التخطي إلى المحتوى الرئيسي

المشاركات

عرض المشاركات من ديسمبر, 2019

moral stories in hindi for kids

     Moral Stories In Hindi For Kids  1.      लालच बुरी बला है - हिंदी कहानी चंदन कुमार नाम का एक युवा लड़का गांव से शहर आया था वहां वह पढ़ने के लिए आया था क्योंकि उसके गांव में पढ़ने के लिए अच्छा कॉलेज नहीं था इसलिए उसने शहर जाने के बारे में सोचा और वह शहर की ओर चल दिया। moral stories in hindi for kids शहर में उसका दोस्त अमर भी रहता था अमर पढ़ाई के साथ साथ एक बड़े व्यापारी के साथ दुकान में काम करता था , उस व्यापारी का नाम कमल सिंह था । वह बहुत उदार स्वभाव का था और उसे नए लोगो से मिलना पसंद था,इसलिए  वो ज्यादातर समय शहर से बाहर रहता था और नई नई जगहों पर घूमता था।  इस कारण से दुकान की देखभाल का कार्य अमर ही करता था अमर ईमानदार और नेक इंसान था इस कारण उसने अपने मालिक का विश्वास जीत लिया था । यहां तक कि मालिक ने उसे दुकान की चाबी भी से दी थी। चंदन के गांव से शहर आने की खबर को सुनकर अमर भी खुश हुआ और वह उसे लेने रेलवे स्टेशन भी गया । उसने चंदन का एडमिशन एक कॉलेज में करवा लिया और चंदन को अपने मालिक की दुकान में नौकरी भी दिलवा दी । चंदन दिन में कॉलेज जाता

Moral stories in hindi for class 7

Moral stories in hindi for class 7   १.  " किसान और जमीदार की कहानी" moral stories in hindi for kids  चंदनपुर नाम के गांव में एक किसान रहता था उसका नाम हरिराम था,वह सुबह से शाम तक मेहनत करता था । वह ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं था पर वह ईमानदार था । वह भगवान शिव की पूजा करता था। गांव का जमींदार किशनलाल हमेशा उसको परेशान करता था,और उससे ज्यादा लगान वसूल करता था।  हरिराम की एक बेटी थी उसका नाम अंजलि था । अंजलि अब बड़ी हो गई थी और उसकी शादी कराने के लिए हरिराम के पास ज्यादा पैसे भी नहीं थे । जमीदार किशनलाल अपने बेटे भोलू की शादी अंजलि से कराना चाहता था जिससे वह दहेज में हरिराम के खेत अपने कब्जे में आसानी से करना चाहता था।  इसलिए जमीदार हमेशा उस किसान पर दबाव बनाए रखता था ताकि वह शादी के लिए राजी हो जाए लेकिन हरिराम ये बात अच्छे से जानता था कि अगर वह शादी के लिए राजी हो जाता है तो वह उसके खेत भी छीन लेगा और शादी के बाद उसकी बेटी को भी दहेज लाने के लिए बोलेगा और उसके साथ मार पीट करेगा,इस कारण से वह अंजलि की शादी भोलू से नहीं कराना चाहता था। एक दिन हरिराम

Hindi stories for kids

Hindi stories for kids  गोलू और अमन की कहानी  रुद्रपुर नामक गांव में गोलू नाम का एक बड़ा लड़का रहता था,वह गांव के सरपंच का बेटा था।  उसे फैशन  से रहने का शौक था,वह हमेशा नए फैशन के बारे में सोचता था और नए फैशन के ही कपड़े पहना करता था। stories in hindi for kids  एक बार उसे ख्याल आया कि अगर मैं बबलगम खाऊंगा तो और भी मॉडर्न  दिखूंगा। अब  वह हमेशा बबलगम खाने लगा और धीरे धीरे उस लत लग गई वह दिन भर चबाता रहता था और बुलबुले फूलता था और बुलबुला फटने की आवाज़ पर खुश होता था। खाने के समय के अलावा हमेशा उसके मुंह में बबलगम रहता था।  वह रास्ते में बबलगम थूक देता था जिससे वह बबलगम लोगों के चप्पलों  पर चिपक जाता था लोग इस बात से परेशान होने लगे थे । गांव के मोची के पास जो भी चप्पल या जूता रिपेयर के लिए आता था उसके नीचे बबलगम चिपका रहता था । वह जब भी सिनेमा हॉल में जाता था फिल्म खत्म होने के बाद वह बबलगम को सीट पर चिपका रहता था और  जब कोई उस सीट पर बैठता था वह बबलगम उस पर चिपक जाता था । लोग उससे परेशान हो चुके थे लेकिन कुछ के भी नहीं सकते थे क्यूंकि वह सरपंच का