التخطي إلى المحتوى الرئيسي

المشاركات

عرض المشاركات من أكتوبر, ٢٠٢٠

Albert Einstein Biography In Hindi अल्बर्ट आइंस्टीन की जीवनी

Albert Einstein Biography In Hindi आधुनिक विज्ञान की प्रगति में सबसे बड़ा नाम है अल्बर्ट आइंस्टीन का। न्यूटन और आइंस्टाइन दो ऐसे वैज्ञानिक नाम हैं जिन्हें विश्व का हर एक व्यक्ति जानता है। कहा जाता है कि अल्बर्ट आइंस्टीन के समान बुद्धिमान कोई नहीं हुआ। आधुनिक समय के सभी वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन को अपना आदर्श ( ideal ) मानते हैं। अल्बर्ट आइंस्टीन ने कहा कि द्रव्यमान (mass) और ऊर्जा (energy) सापेक्ष हैं और उसी तथ्य को प्रमाणित करने के लिए उन्होंने अपना समीकरण E = mc^2 दिया। आज हम इसी वैज्ञानिक के बारे में चर्चा करेंगे। Albert Einstein childhood and schooling in Hindi अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म 14 मार्च , सन् 1897 में उल्म , जर्मनी में हुआ। इनके पिता हेर्मन्न आइंस्टीन थे , और इनकी माता का नाम पौलिन कोच था। अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म एक यहूदी परिवार में हुआ था। उनके पिता अलग अलग कार्य करते थे , वे एक इंजीनियर , सेल्समैन और व्यवसायी भी थे। उनकी माता एक अमीर परिवार से ताल्लुक रखती थीं। जब आइंस्टीन का जन्म हुआ तो उनका सर एक सामान्य बच्चे की तरह बिल्कुल नहीं था , उनका सर एक साधारण बच्चे से बड़ा

3 Best Moral Stories In Hindi For Class 7

Moral Stories In Hindi For Class 7       नमस्कार मित्रों , एक बार फिर से स्वागत है आपका kahanistation पर और आज हम लेकर आए हैं आपके लिए 3 best Moral Stories In Hindi जिन्हें पढ़कर आपको मनोरंजन के साथ साथ कुछ सीखने को भी मिलेगा। Moral Stories In Hindi For Class 7 #1 हीरे की पहचान         एक बार की बात है सज्जननगर नामक नगर में एक जौहरी रहता था।उसका नाम जसवंत था वह नगर में अपने पत्नी और पुत्र रविकांत के साथ रहता था। वह और उसका परिवार बहुत सुखी जीवन व्यतीत कर रहे थे। जसवंत नगर का ही नहीं बल्कि आस-पास के राज्यों और नगरों में बहुत सुप्रसिद्ध था।लोग तो यह भी मानते थे कि जसवंत के जैसा जौहरी कोई ना तो हुआ है और न ही कभी होगा।वह सोना, चांदी से लेकर हीरे तक की पहचान केवल हाथ लगाकर ही कर देता था कि कौन सा असली है और कौन सा नकली।                   उसका व्यापार इतना फैला हुआ था कि उसका कई राज्यों में रोज का आना जाना लगा रहता था कभी यहाँ तो कभी वहाँ।सभी लोग और पड़ोसी राज्यों के राजा भी उस पर बहुत विश्वास करते थे, सभी उसकी बहुत इज़्ज़त भी करते थे।  Best Moral Stories In Hindi For Class 7 एक दिन जब वह पड़ोस

Top 5 Moral Stories In Hindi For Class 5

  Moral Stories In Hindi For class 5 नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का kahani station पर और आज हम फिर  लेकर आएं हैं आपके लिए कुछ  Moral Stories In Hindi for class 5 To 10 जिन्हें पढ़कर आपको कुछ सीखने को मिलेगा। Moral Story in Hindi For Class 5 #1 ईमानदारी का काम Moral Stories In Hindi For Class 5  देवलगढ़ सुख समृधि से सम्पन्न एक खुशहाल राज्य था, जहाँ के राजा सूर्यभान सिंह थे। सूर्यभान कम आयु में ही राजा बन गये थे क्योंकि उनके पिता प्रताप सिंह की लम्बी बीमारी के कारण मृत्यु हो गयी थी।  राजा सूर्यभान सिंह भी अपने राज्य के प्रति बहुत चिंतित और कर्तव्यनिष्ठ रहते थे, उन्होंने अपने मेहनत और राज्य के प्रति समर्पण से देवलगढ़ को सर्वोच्च शिखर पर पहुँचा दिया था। राज्य के कार्यभार में राजा सूर्यभान सिंह इतने व्यस्त थे कि उन्हें अपने सुखों के बारे में कोई चिंता नही थी बल्कि उनकी दृष्टि में राज्य की प्रजाजन के सुख सर्वोपरि थे लेकिन उनकी माता जिन्हें राजमाता का सम्मान प्राप्त था, को हमेशा उनके भविष्य और भावी पीढ़ी के बारे में चिंतित रहती थी। समय व्यतीत होता गया और सूर्यभान सिंह को राजा बने पुरे पांच