Skip to main content

सुनील गावस्कर का जीवन परिचय Sunil Gavaskar Biography In Hindi

सुनील गावस्कर का जीवन परिचय (Sunil Gavaskar Biography In Hindi)

 सुनील गावस्कर पूर्व भारतीय क्रिकेटर हैं, वे अपने समय के महान बल्लेबाज रहे । उन्हें लिटिल मास्टर कहकर पुकारा जाता है।

Sunil Gavaskar Biography In Hindi



सुनील गावस्कर का आरंभिक जीवन :

सुनील गावस्कर का जन्म 10 जुलाई 1949 को मुंबई में हुआ था। इनके पिता का नाम मनोहर गावस्कर , और माता का नाम मीनल गावस्कर था। उनकी 2 बहनों के नाम नूतन गावस्कर और कविता विश्वनाथ हैं।

बचपन में सुनील गावस्कर प्रसिद्ध पहलवान मारुति वाडर के बहुत बड़े फैन थे और उन्हें देखकर सुनील भी एक पहलवान बनना चाहते थे, लेकिन अपने स्कूल के समय से ही सुनील क्रिकेटप्रेमी भी रहे , उन्होंने कई बार लोगों का ध्यान अपनी प्रतिभा की ओर आकर्षित किया था।

1966 में सुनील गावस्कर ने रणजी ट्रॉफी में डेब्यू किया।रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट में  सुनील गावस्कर ने कर्नाटक की टीम के खिलाफ दोहरा शतक जड़ दिया।

सुनील गावस्कर का अंतराष्ट्रीय टेस्ट कैरियर :

1971 में सुनील गावस्कर का चयन भारतीय क्रिकेट टीम में वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच में खेलने के लिए हुआ।सुनील गावस्कर अपने समय के बहुत बड़े और महान बल्लेबाज थे।

अपने पूरे करियर के दौरान सुनील गावस्कर ने कुल 125 टेस्ट मैच खेले जिनमें 51.12 की औसत से 10,112 रन बनाए हैं।

सुनील गावस्कर के नाम टेस्ट क्रिकेट में 34 शतक और 45 अर्धशतक हैं। वहीं टेस्ट क्रिकेट में गावस्कर का उच्चतम स्कोर 236* नॉट आउट है।

सुनील गावस्कर का ODI क्रिकेट कैरियर :

1974 में गावस्कर का चयन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय (ODI) मैच में हुआ था। ODI में सुनील गावस्कर ने 108 मैच खेले जिसमें उनका प्रदर्शन 35.13 की औसत से 3092 रनों का रहा। ODI में सुनील गावस्कर के नाम एक शतक और 27 अर्धशतक हैं। ODI मैचों में  सुनील गावस्कर का उच्चतम स्कोर 103 रहा।

सुनील गावस्कर का निजी जीवन :(personal life)

23 सितंबर 1974 को सुनील गावस्कर का विवाह मार्शनेल गावस्कर के साथ हुआ, उनके बेटे का नाम रोहन गावस्कर है। रोहन भी एक क्रिकेटर हैं परंतु वे अधिक समय तक भारतीय टीम में जगह नहीं बना सके।

सुनील गावस्कर को प्राप्त सम्मान (awards) :

  • सुनील गावस्कर को 1975 में अर्जुन पुरुस्कार से सम्मानित किया गया।
  • 1980 में उन्हें विज्डन क्रिकेटर ऑफ द ईयर पुरुस्कार दिया गया।
  • 1980 में भारत सरकार द्वारा गावस्कर को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।

सुनील गावस्कर के रिकॉर्ड्स : (recods)

  • सुनील गावस्कर अपने समय में भारतीय क्रिकेट टीम की रीढ़ माने जाते थे , 1986 में गावस्कर ने इंग्लैड में 100 कैचों का रिकॉर्ड पूरा किया।
  • सुनील गावस्कर अपने फेवरेट शॉट लेट फ्लिक के लिए पूरे वर्ल्ड क्रिकेट में मशहूर थे, उनके इस शॉट के दीवाने भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में थे।
  • अपने समय में सुनील गावस्कर 10000 रन बनाने वाले एक मात्र बल्लेबाज थे।
  • सुनील गावस्कर ने  एक वर्ष में 1,000 रन बनाने का रिकॉर्ड 3 बार अपने नाम किया।

सुनील गावस्कर से जुड़े रोचक तथ्य (interesting Facts About Sunil Gavaskar) :

  • सुनील गावस्कर ने कुछ फिल्मों में भी काम किया, जिसमें से कुछ प्रमुख नाम मराठी फिल्म "सावली प्रेमछी" और हिंदी फिल्म "मालामाल" हैं।
  • सुनील गावस्कर ने कई पुस्तकें भी लिखीं , उनकी आत्मकथा का नाम सनी डेज है। इसके अतिरिक्त उन्होंने कई अन्य पुस्तकें भी लिखी जिनके नाम आइडल्स, The Sunil Gavaskar Omnibus, Runs 'n Ruins, Straight Drive , One Day Wonders आदि हैं।
  • सुनील गावस्कर अच्छे क्रिकेटर होने के साथ साथ बहुत अच्छे व्यक्ति भी हैं ,उन्होंने जरूरतमंद गरीब खिलाड़ियों की मदद के लिए " चैंप फाउंडेशन " की शुरुआत भी की।
  • सुनील गावस्कर को सम्मान देते हुए उनके नाम पर एक टेस्ट ट्रॉफी बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी रखी गई। यह ट्रॉफी एलन बॉर्डर और सुनील गावस्कर के नाम पर रखी गई है। यह टेस्ट श्रृंखला भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जाती है।
यह भी पढ़ें :
 

Comments

Popular posts from this blog

रोहित शर्मा का जीवन परिचय Rohit Sharma Biography In Hindi

 रोहित शर्मा का जीवन परिचय  (Rohit Sharma Biography In Hindi) रोहित शर्मा भारतीय क्रिकेट टीम के उपकप्तान और ओपनर बल्लेबाज हैं, रोहित को hit-man के नाम से जाना जाता है। IPL में सबसे सफल कप्तान का खिताब भी रोहित के पास ही है,  रोहित शर्मा अब तक 5 बार IPL की ट्रॉफी मुंबई इंडियंस के लिए जीत चुके हैं। रोहित शर्मा का प्रारंभिक जीवन : रोहित का जन्म 30 अप्रैल 1987 को नागपुर में हुआ था। उनकी माता का नाम पूर्णिमा और उनके पिता का नाम गुरुनाथ शर्मा है , रोहित शर्मा के पिता एक ट्रांसपोर्ट फार्म में काम करते थे, उनकी आर्थिक स्थिति कुछ खास अच्छी नहीं थी।रोहित बचपन से ही क्रिकेट के शौकीन थे। 1999 में रोहित ने क्रिकेट एकेडमी में प्रवेश लिया। दिनेश लाड क्रिकेट अकेमेडी में उनके कोच थे।रोहित के कोच दिनेश लाड ने रोहित को उनके क्रिकेट को निखारने के लिए उन्हें अपना स्कूल बदलने की सलाह दी और उन्हें स्वामी विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल में प्रवेश लेने का सुझाव दिया, परंतु रोहित की आर्थिक स्थिति इतनी मजबूत न थी कि वे स्कूल की फीस भर सकें। अतः रोहित की मदद के लिए उनके कोच ने रोहित को स्कॉलरशिप दिलाई ,जिससे कि उनकी

पंडित जवाहर लाल नेहरु की जीवनी Jawahar Lal Nehru Biography in Hindi

  पंडित जवाहर लाल नहरू भारत के पहले प्रधानमंत्री और प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी थे ।  पंडित जवाहर लाल नेहरु को  आधुनिक भारतीय राष्ट्र-राज्य – एक सम्प्रभु, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, और लोकतान्त्रिक गणतन्त्र  के वास्तुकार माना जाता  हैं। पंडित नेहरू को एक कुशल लेखक के रूप में जाना जाता है । नेहरू जी को बच्चों से बहुत लगाव था । बच्चे इन्हें चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे । पंडित नेहरु के जन्मदिवस (14 नवम्बर)  बाल-दिवस के रूप में मनाया जाता है । पंडित नेहरु का आरंभिक जीवन : पंडित जवाहर लाल नेहरु का जन्म  14 नवंबर 1889 इलाहबाद, में हुआ था ।इनके पिता का नाम मोतीलाल नेहरु था ,और माता का नाम स्वरूपरानी देवी था । पंडित नेहरु तीन भाई बहनों में सबसे बड़े थे , इनकी दो छोटी बहनें (विजया लक्ष्मी और कृष्णा  हठीसिंग ) थी । पंडित जवाहर लाल नेहरू एक संपन्न परिवार से आते थे, अतः इनकी शिक्षा भी आचे विद्यालयों और कॉलेजों से हुई । प्रारंभिक शिक्षा के लिए पंडित नेहरू लन्दन स्थित हैरो स्कूल गए,  तथा कॉलेज की पढाई के लिए  ट्रिनिटी कॉलेज, लंदन गए । पंडित जवाहर लाल नेहरु ने अपनी वकालत की डिग्री  कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय  स