विराट कोहली भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान हैं। अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में विराट कोहली को रन मशीन के नाम से जाना जाता है। विराट दाएं हाथ के मध्यक्रम के बल्लेबाज हैं। अपनी बल्लेबाजी के अतिरिक्त विराट कोहली मैदान में फील्डिंग के लिए भी जाने जाते हैं।

Virat Kohli Biography In Hindi



नाम : विराट कोहली ;

पिता : प्रेम कोहली ;

माता : सरोज कोहली ;

भाई : विकास कोहली ;

बहन : भावना कोहली ;

पत्नी : अनुष्का शर्मा ;

पुत्री : वामिका कोहली ;

व्यवसाय : क्रिकेटर ( दाएं हाथ के बल्लेबाज) ;

विराट कोहली का शुरूआती जीवन :

विराट कोहली का जन्म 5 नवम्बर 1988 को दिल्ली में एक पंजाबी परिवार में हुआ। इनके पिता का नाम प्रेम कोहली था जो कि पेशे से एक वकील थे। उनकी माता का नाम सरोज कोहली है। विराट के एक भाई और एक बहन हैं जिनका नाम विकास कोहली और भावना कोहली हैं। विराट के पिता को भी क्रिकेट का बहुत शौक था। जब वे 3 वर्ष के थे तब से ही विराट ने क्रिकेट में रुचि दिखानी शुरू कर दी। और धीरे धीरे उनकी रुचि और बढ़ती गई।

बचपन में विराट अपने पड़ोसी बच्चों के साथ खेला करते थे। मोहल्ले में विराट के बराबर का कोई खिलाड़ी नहीं था। विराट के पिता ने दिल्ली क्रिकेट एकेडमी में उनका दाखिला करवा दिया। उस समय उनकी उम्र केवल 9 वर्ष थी। क्रिकेट अकैडमी में विराट के कोच राजकुमार शर्मा थे। उनके कोच बताते हैं कि प्रैक्टिस के बाद भी विराट ट्रेनिंग करते रहते थे।

बाद में विराट ने सीनियर टीम के प्लेयर्स के साथ खेलना शुरू कर दिया, विराट के साथ के खिलाड़ी उन्हें आउट नहीं कर पाते थे जिस वजह से विराट को यह लगा कि अगर उन्हें खुद को बेहतर बनाना है तो उन्हें सीनियर खिलाड़ियों के साथ खेलना चाहिए। 

अक्टूबर 2002 में विराट को दिल्ली की अंडर 15 टीम में शामिल कर लिया गया , और विराट ने टीम के लिए बहुत अच्छा प्रदर्शन किया और 2004 में उन्हें अंडर 17 टीम में भी जगह मिल गई।

साल 2004 में विजय मर्चेंट ट्रॉफी में दिल्ली के लिए खेलते हुए विराट ने 4 मैचों में 450 रन बनाए। दिल्ली के लिए रणजी ट्राफी में विराट ने जल्द ही खेलना शुरू कर दिया।

जुलाई 2006 में विराट कोहली का चयन भारत की अंडर 19 टीम में हो गया। उम्का पहला सीजन इंग्लैंड के खिलाफ था, इस टूर में कोहली ने 3 एकदिवसीय मैचों में कुल 105 रन बनाये और टेस्ट मैचों में उनका औसत 49 का रहा ।


इसी वर्ष के अंत में विराट के पिता की ब्रेन स्ट्रोक के कारण मृत्यु हो गई, यह समय विराट के लिए बहुत मुश्किल था। उसी दिन उनका रणजी ट्राफी का मैच भी था। विराट मैच नहीं छोड़ सकते थे, अतः उन्होंने खेलने का निर्णय लिया। इस मैच में विराट ने 90 रन बनाए थे ।

युवा अवस्था में पिता की मृत्यु से घर की आर्थिक स्थिति भी डगमगा गयी , उस समय विराट को किराये के मकान में रहना पड़ा था।

2008 में विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने मलेशिया में अंडर 19 विश्व कप में जीत हासिल की।

विराट कोहली का ODI क्रिकेट कैरियर :

2008 में विराट कोहली का चयन भारतीय अंतराष्ट्रीय टीम में हुआ। उनकी पहली अंतराष्ट्रीय एकदिवसीय श्रृंखला श्रीलंका के खिलाफ हुई। इस श्रृंखला में विराट ने भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज के रूप में गौतम गंभीर का साथ निभाया। 

अपने पहले मैच में विराट ने 22 गेंदों पर 12 रन बनाए। इसी श्रृंखला के चौथे मैच में विराट ने अपना पहला अर्धशतक बनाया। इस मैच में विराट ने 54 रन बनाए , जिससे टीम इंडिया को जीत में मदद मिली। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत यह सीरीज 3 - 2 से जीता।

2011 विश्व कप :

2011 विश्व कप में भारत के पहले मैच में विराट कोहली ने 83 गेंदों पर शतक बनाया। पूरे टूर्नामेंट में विराट ने कुल 9 मैचों में 35.25 की औसत से 282 रन बनाए। 

विराट कोहली का अंतराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट कैरियर :

2011 में भारत के वेस्ट इंडीज दौरे की टेस्ट सीरीज में विराट कोहली को बल्लेबाज के रूप में चुना गया। यह सीरीज भारत 1 - 0 से जीता।

2014 में महेंद्र सिंह धोनी के टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद विराट कोहली को भारतीय टेस्ट टीम का कप्तान बनाया गया।

विराट कोहली का T-20 इंटरनेशनल क्रिकेट कैरियर :

अंतराष्ट्रीय t20 कैरियर की शुरुआत विराट ने 12 जून 2010 को जिम्बावे के खिलाफ की। t-20 इंटरनेशनल में विराट कोहली सबसे तेज 3,000 रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी हैं।

विराट कोहली का IPL कैरियर :

ipl 2008 में विराट कोहली को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने अपनी टीम में शामिल किया। पहले सीजन में विराट ने 12 पारियों में कुल 165 रन बनाए जिसमें उनका औसत 15.5 का था।

2013 में विराट को RCB के कप्तान के रूप में चुना गया, इस सीजन में कोहली ने 12 पारियों में कुल 634 रन बनाए , जिसमें 6 अर्शशतक शामिल थे। इस सीजन में उनका हाई स्कोर 99 था और पूरे टूर्नामेंट में उनका औसत 45.25 और स्ट्राइक रेट 138+ था।

2016 के IPL सीजन में विराट कोहली ऑरेंज कैप विजेता रहे। इस टूर्नामेंट में विराट ने 973 रन बनाए। जिसमें उनका उच्च स्कोर 113 था।

 2016 के IPL सीजन में कोहली की कप्तानी में RCB की टीम फाइनल तक पहुंची थी परंतु फाइनल में सन रायजर्स हैदराबाद ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 8 रनों से मात दे दी।

विराट कोहली के रिकॉर्ड्स :

वैसे तो विराट कोहली हर मैच में एक नया रिकॉर्ड अपने नाम करते हैं, नए रिकॉर्ड बनाने के मामले में विराट के समान दूसरा बल्लेबाज शायद ही कोई हो। विराट के कुछ प्रमुख रिकॉर्ड ये हैं :

  • वर्ल्ड क्रिकेट में सबसे तेज 10,000 रन बनाने का रिकॉर्ड विराट कोहली के नाम है। इन्होंने 205 पारियों में 10,000 रनों का आंकड़ा पार किया था। इससे पहले यह रिकॉर्ड मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर के नाम पर था।

  • विराट कोहली अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में 50 की औसत से 20 हजार से अधिक रन बनाने वाले एक मात्र बल्लेबाज हैं।
  • विराट कोहली कप्तान के रूप में पहली तीन टेस्ट पारियों में शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी हैं।
  • विराट कोहली के नाम ODI क्रिकेट में 43 शतक हैं। टेस्ट में विराट के नाम 27 शतक दर्ज हैं।

  • IPL में विराट कोहली के नाम सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड है , उन्होंने 6000 से अधिक रन बनाए हैं। दूसरे नंबर पर शिखर धवन और तीसरे पर सुरेश रैना हैं।

विराट कोहली अवार्ड्स :

2012 में ICC ODI प्लेयर ऑफ द ईयर,

2013 में अर्जुन पुरुस्कार,

2017 में पद्म श्री,

2018 में राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार,

2019 में विज्डन क्रिकेटर ऑफ द ईयर,

2018 सर गारफील्ड सोबर्स ट्राफी,


विराट कोहली का निजी जीवन:

दिसंबर 2017 में विराट कोहली का विवाह बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा के साथ हुआ। इनकी एक बेटी है , जिसका नाम वामिका कोहली है ।


  यह भी पढ़ें :








Post a Comment

أحدث أقدم